वन स्टॉप सेंटर (सखी)

वन स्टॉप सेंटर (सखी) अंतर्गत सभी प्रकार की हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एक ही स्थान पर अस्थायी आश्रय, पुलिस-डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउन्सलिंग की सुविधा वन स्टाॅप सेन्टर/उषा किरण केन्द्रों में उपलब्ध करायी जायेगी।

उदेश्य

• एक ही छत के नीचे हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एकीकृत रूप से सहायता एवं सहयोग प्रदाय करना।
• पीड़ित महिला एवं बालिका को तत्काल आपातकालीन एवं गैर आपातकालीन सुविधायें उपलब्ध करना, जैसे-चिकित्सा, विधिक, मनौवैज्ञानिक परामर्श आदि।

लक्षित समूह

• हिंसा से पीड़ित महिलायें, जिसमें 18 वर्ष से कम आयु की बालिकायें भी सम्मिलित है, को सहायता प्रदाय करना।
• 18 वर्ष से कम आयु की बालिकाओं की सहायता हेतु लैंगिंक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम 2012 एवं किशोर न्याय (बालकों की देखरेख और संरक्षण) अधिनियम 2015 के अंतर्गत गठित संस्थाओं को सेन्टर से जोड़ना।

वन स्टॉप सेंटर (सखी)

  निर्देश /समाचार
09-10-2018 को भोपाल में आयोजित होने वाली एक दिवसीय राष्ट्रीय प्रशिक्षण के संबंध में...
भारत सरकार सहायित वन स्टॉप सेंटर का भवन निर्माण प्रशाकिय स्वीकृति प्रदान की जाती है...
वन स्टॉप सेंटर का बैंक खाता खोलने का आदेश
शासकीय एवं अशासकीय महिला गृहों हेतु मुख्य सचेतक घोषित किये जाने बाबत...
  सफलता की कहानी
पति के विरुद्ध घरेलु हिंसा ऊषा किरण योजना का प्रकरण...
दहेज़ के प्रकरण
सुलह समिति द्वारा निराकरण
इंदौर का प्रकरण घरेलू हिंसा अंतर्गत प्रकरण
घरेलु हिंसा
  चल चित्र