महिला वित्त एवं विकास निगम

महिलाओं को आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सशक्त करने, उन्हें आत्म निर्भर तथा स्वालम्बी बनाने के उद्देश्य

+ More

महिला वित्त एवं विकास निगम आपका स्वागत करता है |

Image 01

महिलाओं को आर्थिक एवं सामाजिक रूप से सशक्त करने, उन्हें आत्म निर्भर तथा स्वालम्बी बनाने के उद्देश्य से दिनांक 31 अक्टूबर 1988 को मध्यप्रदेश महिला आर्थिक विकास निगम की स्थापना ‘‘ निव्र्यापारिक निगम’’ के अन्तर्गत की गई थी। तत्पश्चात् निगम के सुदृढ़ीकरण के लिये 31.03.2001 को निगम के बाॅयलाज में संशोधन कराया गया व निगम का नाम‘‘ मध्य प्रदेश महिला वित्त एवं विकास निगम ’’ रखते हुये सोसायटी रजिस्ट्रीकरण अधिनियम 1973 के अंतर्गत पंजीकृत किया गया।

उद्देश्य

Image 02
  • 1. महिलाओं को आर्थिक गतिविधियों में भाग लेने हेतु सूचना प्रदान करना।
  • 2. बैंक एवं अन्य वित्तीय संस्थानों से वित्तीय सहायता प्राप्त कराना।
  • 3. उत्पादित वस्तुओं के विक्रय को प्रोत्साहन देना।

योजनाएं

Image 03

महिला वित्त एवं विकास निगम द्वारा महिलाओं के हित के लिये निम्नांकित योजनायें क्रियान्वित की जा रही हैं